• Tue. Jun 18th, 2024

भूमि सर्वेक्षण कार्य में शामिल सभी पदाधिकारियों/कर्मियों को दिया गया तकनीक उन्नयन से संबंधित प्रशिक्षण

Feb 21, 2023
सिटी न्यूज डेस्क ।नालंदा जिला में जारी भूमि सर्वेक्षण कार्य में कुछ मामलों में विभागीय प्रावधान/प्रक्रिया के अनुरूप कार्य नहीं किये जाने को लेकर विभिन्न स्रोतों से समाहर्त्ता को जानकारी प्राप्त हुई।
समाहर्त्ता के निदेशानुसार सर्वे कार्य मे लगे सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों को आज स्थानीय कर्पूरी (टाउन हॉल) में तकनीक उन्नयन को लेकर प्रशिक्षण दिया गया।
प्रशिक्षण कार्यक्रम में समाहर्त्ता श्री शशांक शुभंकर ने अपने संबोधन में कहा कि भूमि सर्वेक्षण अत्यंत गंभीर प्रकृति का कार्य है। इसके द्वारा जमीन से संबंधित स्थाई रिकॉर्ड का सृजन होता है। इस लिए इस कार्य में थोड़ी भी लापरवाही स्वीकार योग्य नहीं है।
सर्वे कार्य में विभाग द्वारा निर्धारित प्रावधान एवं प्रक्रिया का अक्षरशः अनुपालन किया जाना है।
उन्होंने कहा कि विभिन्न माध्यमों से उन्हें शिकायत प्राप्त हो रही है कि कुछ मामलों में विभागीय प्रावधान एवं प्रक्रिया का पालन नहीं किया जा रहा है। ऐसे सभी मामलों की जांच कराई जा रही है।
उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि निर्धारित प्रावधान एवं प्रक्रिया से इतर कार्य करने वाले किसी भी पदाधिकारी कर्मी को नहीं बख्शा जाएगा। ऐसे मामले में दोषी पाए जाने वाले पदाधिकारियों एवं कर्मियों के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।
विभागीय प्रावधान, नियम या प्रक्रिया को लेकर अगर किसी तरह की कोई दुविधा हो तो अपने स्तर से या अपनी मर्जी से नियम, प्रावधान या प्रक्रिया का मतलब नहीं निकालें।ऐसी परिस्थिति में उचित माध्यम एवं उचित स्तर से मार्ग दर्शन प्राप्त करें।
इस अवसर पर प्रशिक्षण में शामिल सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों को बताया गया कि सरकार द्वारा पारित आदेश एवं समय समय पर निर्गत संकल्प/सर्कुलर/विनियम के प्रावधानों के तहत ही सर्वे कार्य करें। नियम से इतर कार्य किए जाने पर कड़ी कारवाई की जाएगी। आमलोगों को सूचित कर उनसे आवश्यक दस्तावेज की मांग करें।सम्पूर्ण प्रक्रिया का दस्तावेजीकरण सुनिश्चित करें। प्रविष्टि कर हस्ताक्षर करवायें।जो मामले समझ में न आए, उसके लिए अलग से मार्ग दर्शन की मांग करें।
बकाश्त मालिक भूमि के संदिग्ध मामलों की सूची भूमि सुधार उपसमाहर्त्ता को भेजें या दावेदार को भूमि सुधार उपसमाहर्त्ता के पास जा कर लगान निर्धारण करवाने की सलाह दें। इस तरह के सभी मामलों की सूची संबंधित भूमि सुधार उपसमाहर्त्ता को अविलंब दें।
सभी भूमि सुधार उप समाहर्त्ता को निर्देश दिया गया कि ऐसे मामलों का प्राथमिकता के आधार पर निपटारा कर लगान निर्धारण करते हुए फॉर्म M निर्गत करें।
इस अवसर पर
अपर समाहर्ता श्री मंजीत कुमार,
भूमि सुधार उप समाहर्ता, राजगीर/ बिहार शरीफ/हिलसा, जिला राजस्व शाखा प्रभारी श्री अनिल कुमार,सहायक बंदोबस्त पदाधिकारी,नालंदा जिले में भू सर्वेक्षण कार्य में लगे सभी शिविर प्रभारी/ कानूनगो/अमीन/ अन्य सर्वे कर्मी आदि उपस्थित थे।
RSS
Follow by Email
YouTube
Telegram
WhatsApp
FbMessenger